Thursday, November 23, 2017
अभी अभी

आलिया ने ये क्या किया ?

aliaबेंगलुरु/ अगर आप इस मामले में अभिव्यक्ति की आजादी को हवा देते हैं तो गंभीर हो जाइए कल हो सकता है आपके बच्चे भी इसी तरह का व्यवहार करें और अपने कुतर्कों के सहारे समाज में गन्दगी पनपने दें।  भारत एक ऐसा देश हैं जहां हर जाती-धर्म और संस्कार-व संस्कृति के लोग बस्ते हैं।  आजादी का अर्थ नंगे होकर चीखना चिल्लाना नहीं होता।  आप यह भी अच्छी तरह से जान लें कि ग्लैमरस दुनिया का प्रभाव नव पीढ़ी में कैसा असर डाल रहा है।  चकाचौंध की दुनिया के ख़्वाब देखना आज हर बच्चों का काम हो गया है।  ऐसे में वो अगर अपनी हमउम्र किसी लड़की या लडके की भद्दी तस्वीरें देखते हैं या कुछ लिखा पढ़ते हैं तो उनकी मानसिकता में वैसा ही बीज पद जाता है , इससे भी मुंह नहीं मोड़ा जा सकता।  फिर भी इस देश ने हमें काफी आजादी दी है और हम उसे अपने दिमाग और जीवन के उत्थान के लिए उपयोग करें तो अधिक बेहतर होता है।

अभी एक ऐसा वाक्या चर्चा में है जिसमें तर्क वितर्क और कुतर्क तीनों हैं।  सोचना होगा कि आखिर सच क्या है ? फिल्म अभिनेत्री  पूजा बेदी की बेटी आलिया की अश्लील तस्वीरें चर्चा का विषय हैं और उन तस्वीरों पर उसकी बातें भी सुर्खियां बटोर रही है।  इससे आलिया के करियर को कोई नुक्सान नहीं होना है किन्तु उसकी उम्र की लड़कियों को जरूर नुक्सान हो सकता है। आपको बता दें कि हाल ही में पूजा बेदी की बेटी आलिया ने अपनी हॉट तस्वीरें पोस्ट कीं और पूछा कि क्या बॉलीवुड उन्हें देख रहा है। इस पर लोग उन पर जमकर बरसे, जिसके जवाब में आलिया ने लिखा, “मेरे पास मेरे स्तनों के आगे भी कहने को बहुत कुछ है…” सामाजिक दृष्ट‍ि से देखें तो आलिया का यह अंदाज गंभीर इशारा कर रहा है। क्योंकि यहां भारतीय संविधान द्वारा दिये गये अपने हिसाब से जीने के अध‍िकार का गलत फायदा उठाया जा रहा है। अखि‍ल भारतीय अध‍िकार संगठन के अध्यक्ष डा. आलोक चांटिया से जब हमने बात की तो उन्होंने कहा, “जैसा आदमी देखता है, वैसा ही सोचता है। ऐसे कृत्यों से समाज को हानि हो सकती है। जिस फेसबुक पर आप तस्वीरें डाल रही हैं, उस पर 13 साल की उम्र के बच्चे भी आते हैं। अगर वे आपकी ओर आकर्ष‍ित होंगे, तो उनके अंदर गलत काम करने की उत्तेजना जल्दी भड़केगी। डा. चांटिया का कहना हे कि आलिया को यह समझना होगा कि, राइट टू प्राइवेसी किसी के लिये भी राइट टू लाइफ नहीं है। ये दोनों एकदम अलग हैं। बॉलीवुड में जाने के और भी रास्ते हैं। आलिया ही नहीं उनकी उम्र की हर लड़की को यह समझना होगा कि वो जो कुछ भी सोशल मीडिया पर पोस्ट करती हैं, उसका प्रभाव समाज पर पड़ता है। डा. चांटिया कहते हैं कि इसमें केवल आलिया को गलत ठहराना भी गलत है। यह मुद्दा तो दो तीन दिन में ठंडा पड़ जायेगा, लेकिन गंभीर बात यह है कि पब्ल‍िसिटी पाने के इस स्टंट को अपनाने के लिये कोई भी लड़की अब अपनी उत्तेजक तस्वीरों का प्रयोग कर सकती है, जोकि समाज के लिये खतरा है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*