Wednesday, December 13, 2017
अभी अभी

Category Archives: भूली-बिसरी यादें

गायकी का सिकंदर

गंगानगर का वह घर जहां एक सरकारी कर्मचारी अमर सिंह धामानी  अपनी पत्नी बच्चन कौर के संग ​रहता था। ८ फरवरी का वह दिन जब इस घर में एक बालक का जन्म हुआ जिसका नाम माता-पिता ने जीत रखा।  कौन जानता था कि यह जीत जग को जीत लेगा और बन जाएगा जगजीत। सिकंदर ने भले ही अपने बाहुबल से दुनिया जीती हो ... Read More »

आलोक में ‘आदेश’

आदेश श्रीवास्तव – विख्यात संगीतकार , इतनी कम उम्र में विख्यात बन जाना और इतनी जल्दी दुनिया को अलविदा भी कह देना , विधाता का नियम कुछ समझ में नहीं आता . जिसका संगीत शरीर का रोम रोम रोमांचित कर देता है , जिसकी धुन रगो से बहती हुई मस्तिष्क के कोरो में झृंकत होकर मुग्ध कर देती हो , ... Read More »

किशोर नहीं हैं मगर ‘आभास’ है

कोई वर्ष १९८४ -८५  का होगा और मैं १९-२० वर्ष का।  मध्यप्रदेश का खरगोन जिला और इसी जिले के पास खंडवा। पश्चिम निमाड़ और पूर्वी निमाड़ के बीच की दूरी कोई ८७ किलोमीटर की।  खंडवा किशोर कुमार के नाम से विख्यात। और खरगोन अगर किशोर कुमार से अपना सम्बन्ध बनाता है तो उनके एक बचपन के मित्र गौर के कारण।  किशोर कुमार जब भी खंडवा ... Read More »

ओ जाने वाले हो सके तो लौट के आजा ……

के शब्द तब तक उतना असर नही करते जब तक कि उसमे उसी भाव की आवाज घुल न जाये . अगर ऐसा होता है तो गीत सीधे दिल तक घुस जाता है , रोम रोम उसके शब्द से रोमांचित हो उठता है , मन-मस्तिष्क को वो अपने पाश में कस लेता है और आदमी या तो मंत्रमुग्ध हो जाता है ... Read More »

अभिनय की अस्मिता

सिनेमा की  स्मित थी स्मिता पाटिल, इतनी कम उम्र में दुनिया को अलविदा कह देना और अपने लाखो करोडो प्रशंसको को गम मे डुबो देना क्या ऐसा अभिनय था जो आज तक जारी है ? सचमुच सांवली-सलोनी और बेहद ही खूबसूरत इस लडकी की अदायगी ने हिंदी सिनेमा के दर्शको को दिखलाया था कि अभिनय आखिर क्या होता है और ... Read More »

दुखद है रवि का अस्त होना

मुंबई/ बॉलीवुड के लिए दुखद खबर है।   न केवल बॉलीवुड के लिए मगर  उन दर्शकों के लिए भी जो उनकी बेहतरीन फिल्मे देखकर सुखद मनोरंजन अनुभव करते थे।  मशहूर फिल्म निर्माता-निर्देशक रवि चोपड़ा का लंबी बीमारी के बाद बुधवार को मुंबई में निधन हो गया है। 68-वर्षीय रवि काफी दिनों से फेफड़ों से जुड़े एक रोग के कारण ब्रीच कैंडी अस्पताल में दाखिल थे। ... Read More »

सदा याद रहेंगे सदाशिव अमरापुरकर

मुम्बई / गणेश कुमार नरवाड़े।  जी हाँ  बॉलीवुड के बेहतरीन कलाकार और लाजवाब विलन।  आप सोच रहे होंगे यह कौनसा कलाकार है , इस नाम से तो हम नहीं जानते किसी कलाकार को।  आप जानते भी है, और पसंद भी करते हैं।  इसकी अदाकारी ने परदे पर जितनी नकारात्मक भूमिकाएं निभाई है उसमें जान घोल दी है।  लोग देखकर ही जिसे कहते ... Read More »

अरे बाँगरू रे ……. .

‘आभास’ है..  वो है आभास कुमार गांगुली। खंडवे वाला,बाँगरू।   आज ८३ वर्ष का हो गया। जी हाँ, किशोर कुमार।  देश का चमकता सितारा और ईश्वरीय गले का उस्ताद। ४ अगस्त १९२९ को मध्य प्रदेश  के खंडवा शहर में एक वकील कुंजीलाल के यहाँ दूसरे नंबर का पुत्र हुआ। नाम रखा आभास। खंडवा को शायद आभास था की उसका नाम पूरे देश में इस लड़के के जरिये होने वाला ... Read More »

मीना कुमारी…

मीना कुमारी के जन्मदिन पर विशेष 81 साल पहले मुंबई में एक किलकारी गूंजी थी, बाद में किलकारी ने सात वर्ष की आयु में एक कलाकार का रुप लिया और देश के दिल में उतर गई। माहजबीं बानो नाम था, जिसे देश ने मीना कुमारी के नाम से जाना जाता है। मीना कुमारी नाम का मतलब था बेहतरीन अदाकारा। भारतीय ... Read More »

किताब में दिलीप कुमार

अमिताभ बच्चन, आमिर खान और धर्मेंद्र ने ट्रैजिडी किंग के नाम से मशहूर और बॉलीवुड के दिग्‍गज अभिनेता दिलीप कुमार की ऑटोबायोग्राफी लॉन्च की. 400 पन्नों में दिलीप कुमार की जिंदगी समेटे ‘द सब्स्टेंस एंड द शैडो’ को 9 जून की शाम मुंबई में लॉन्च किया गया. 400 पन्नों में दिलीप कुमार की जिंदगी समेटे ‘द सब्स्टेंस एंड द शैडो’ ... Read More »