Saturday, August 19, 2017
अभी अभी

Category Archives: विविध

ईवीएम , मतपत्र और घमासान

-मनोज श्रीवास्तव पहले जब चुनाव परिणाम एकतरफा आते थे तो बूथ कैप्चरिंग से लेकर तमाम फंडे गिनाए जाते थे । चूँकि ईवीएम नहीं थी और छापा लगता था तो बूथ कैप्चरिंग की  समस्या विकराल नजर आती थी । इसके निदान के लिए ईवीएम की खोज हुई पर वो भी अटकलों में फंसी हुई है । इसलिए फिरसे मतपत्र की मांग ... Read More »

धनाभाव, गीता प्रेस और आत्मदाह का प्रयास

गोरखपुर / किसी जमाने में देश के विद्वानजनो के सम्पादकत्व में चलने और हिन्दू संस्कृति को बचाए रखने के उद्देश्य से  प्रख्यात हुई गीता प्रेस आज विवादों में है।  कभी अवैतनिक कार्य , वो भी लम्बे समय तक सम्पादक रहते हुए करने वाले विद्वानो ने गीता प्रेस को पूरे देश में ही नहीं बल्कि विदेशो में भी मशहूर बना रखा था। ... Read More »

​स्वामी का जेटली पर हमला ​

नई दिल्ली / सुब्रह्मण्यम भारतीय जनता पार्टी के नेता हैं या किसी और पार्टी के , यह तब नहीं लगता जब वो अपनी ही पार्टी को कटघरे में खड़ा करते हैं तथा बड़े बड़े नेताओं पर निशाना साधते हैं। राजनीतिक गलियारे   में स्वामी को लेकर चर्चा आम है कि पार्टी को अपने विरोधियों से निपटने से पूर्व पार्टी के अंदर स्वामी ... Read More »

सिंहस्थ में त्रिकाल ने खुदवाई खुद की कब्र

उज्जेैन / उज्जैन सिंहस्थ अगर सफलतापूर्वक चल रहा है तो इसमें ढेर सारे विवाद भी जुड़ते जा रहे हैं।  कभी पुलिस और साधुओं के बीच हंगामे की खबर हो या दर्शनार्थियों के साथ दुर्व्यवहार  की बात, सिंहस्थ विवाद रहित  बने रहने की पुरजोर कोशिशें कर रहा है।  यह सच है कि मध्य प्रदेश सरकार ने इस बार बेहतर से बेहतर सुविधाएं प्रदान ... Read More »

सृष्टि सर्जन का पहला मुहूर्त

* अमिताभ श्रीवास्तव  से ही सृष्टि के सन्दर्भ में जानने-समझने की जिज्ञासा रही है। यह विषय मेरे लिये हरहमेश रोमांचित कर देने वाला रहा है। बहुत कुछ पढा-लिखा, अध्ययन किया, साथ ही इस सन्दर्भ में पंडित, ज्योतिष, वैज्ञानिक, ज्ञानियों आदि इत्यादि से समय समय पर अपनी जिज्ञासा शांत करने के उपक्रम भी करता रहा हूं, बावजूद सृष्टि मेरे लिये अबूझ ही बनी ... Read More »

​बाबा , बिजनेस और बाजी​

नई दिल्ली /बाबाओ का बिजनेस फायदे का सौदा है।  यह बाबा रामदेव के पतंजलि ने साबित भी कर दिखाया है।  हालांकि बाबा रामदेव से पूर्व भी बाबा आयुर्वेद के नाम पर बिजनेस फैलाते चले आए  हैं जिसमे आशाराम बापू का भी एक नाम था।  आशाराम बापू का बिजनेस उनके ऊपर लगे आरोपों तथा जेल  होने से लगभग ठप्प हो गया किन्तु इधर बाबा ... Read More »

ऊँट पहाड़ के नीचे है

यह होता है भय।  इसी भय से अनुशासन पैदा होता है।  अगर हम अपनी न्याय व्यवस्था को लचर बना देंगे तो कन्हैया जैसों के लिए तो काम आसान हो जाएगा।  हालांकि इसे लचर बना देने वाला ही काम नेपथ्य में चल रहा था , अन्यथा कोई कारण नहीं कि अफजल गुरु को लेकर निशाना साधा जाता। जे एन यू में ... Read More »

सलाम सियाचीन

सलाम सियाचीन।  सलाम रणबांकुरों।  सलाम शहीदों। नतमस्तक तुम्हारी बहादुरी पर।  भारत की शान के लिए मुस्तैदी पर। सलाम भारतीय सेना। चमत्कारिक रूप से जीवित बच निकाले गए फौजी हनुमनथप्पा आखिरकार बचाए  नहीं जा सके और वे भी अपने नौ शहीद साथियों के साथ अनंत यात्रा पर निकल गए। दुखद है। बावजूद गर्व है इन जाबांज सैनिको पर। दुनिया का सबसे ऊंचा ... Read More »

फंसा है राफेल का पेंच

नई दिल्ली / राफेल का हल अभी तक नहीं निकला है जबकि फ्रांस से भारत की इसके डील की तमाम औपचारिकता पूरी हो चुकी है किन्तु इसकी कीमत को लेकर अभी भी पेंच फंसा हुआ है।  फ्रांस ने राफेल लड़ाकू विमानों की कीमत में मामूली कमी की है लेकिन भारत और अधिक कमी की मांग कर रहा है। इस कारण ... Read More »

क़ानून भी बन जाए तो क्या ?

को याद करके बहुत लोगों का दिल सचमुच दुखा और बहुत से लोगों ने घड़ियाली आंसू भी बहा लिए. कुछ अति- समझदारों की नज़र में ये ज़िम्मेदारी सिर्फ दिल्ली सरकार की थी और देश में केंद्र सरकार की तो कोई ज़िम्मेदारी है ही नहीं, इसलिए यही मान लेते हैं कि दिल्ली सरकार की नींद उस दरिंदे क़ातिल की रिहाई आने ... Read More »