Wednesday, December 13, 2017
अभी अभी

क्या महाराष्ट्र सरकार को कोई ख़तरा है ?

मुंबई। बीएमसी चुनाव के बाद बदलती परिस्थितियों के बीच जो सबसे बड़ी खबर आ रही है वो यह कि सरकार गिराने के लिए चक्रव्यूह का निर्माण किया जाने लगा है।  सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार विपक्ष अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी में है।  मगर ये भी तब अधिक संभव होगा जब शिवसेना भाजपा से अपना समर्थन वापस ले ले।  शिवसेना सरकार से हटेगी इसकी संभावनाएं भी दृढ़ होती जा रही है।  हालांकि राज्य के मुख्यमंत्री अभी भी विश्वास व्यक्त कर रहे हैं कि उनकी सरकार को कोई ख़तरा नहीं है।  मगर कांग्रेस और राष्ट्रवादी के बीच बन रहे समीकरणों ने इस बात को बल दिया है कि कहीं ये सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव की तैयारी तो नहीं है।

बता दें कि कल रविवार को कांग्रेस के अशोक चव्हाण और राष्ट्रवादी के अध्यक्ष शरद पवार की एक मुलाकात  हुई थी , इसी मुलाक़ात के पश्चात सूत्र बताते हैं कि सम्भव है इन दोनों प्रमुख नेताओं ने राज्य की सरकार के खिलाफ कोई व्यूह रचना निर्मित करने पर बल दिया है।  आसन्न विधानसभा अधिवेशन  में संभावनाएं है कि विपक्ष अविश्वास प्रस्ताव पर कोई पहल करे। हालांकि ये भी बताते चलें कि इन खबरों की अभी तक कोई अधिकृत पुष्टि नहीं हो सकी है और ये महज संभावनाओं तक ही सीमित है। सूत्रों से मिली जानकारी में कांग्रेस और राष्ट्रवादी फिलवक्त शिवसेना के उठाए जाने वाले कदम पर नज़रें गड़ाए बैठे हैं क्योंकि शिवसेना जब तक सरकार के साथ है तब तक सरकार को किसी प्रकार की परेशानी नहीं है।  मगर इधर शरद पवार ने कांग्रेस के प्रति अपने गठबंधन पर बल दिया है। उन्होंने कहा भी है कि राज्यभर के स्थानीय निकायों में हमें साथ होना चाहिए। उधर बीएमसी में शिवसेना भाजपा के साथ जाते हुए नहीं दिख रही है। और सरकार में भी वो बनी रहे इसकी संभावनाएं भी कम होती दिखती है।  फिर भी ये कहना कि राज्य सरकार के खिलाफ चक्रव्यूह बनाया जाने लगा है , गलत नहीं होगा।

विधानसभा में हालिया स्थिति

भाजपा – 122, शिवसेना – 63, काँग्रेस – 42, राष्ट्रवादी काँग्रेस – 41, बहुजन विकास आघाडी – 3, शेकाप – 3 ,एमआयएम – 2 ,मनसे – 1,रासप – 1, सीपीआय (एम) – 1, भारीप बहुजन महासंघ – 1, समाजवादी पार्टी   – 1

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*