धर्म

बालाघाट (khabargali) अपनी सालों की जमा पूंजी दान कर आध्यात्म की तरफ रुख कर रहे परिवारों की खबरें आए दिन मिसाल बनकर चर्चा में आ रही हैं।

बालाघाट के सराफा कारोबारी राकेश सुराना ने भी अब अपनी 11 करोड़ की संपत्ति गोशाला और धार्मिक संस्थाओं को दान कर दी। उन्होंने पत्नी लीना और 11 साल के बेटे अमय के साथ सांसारिक जीवन को त्याग कर संयम पथ पर चलने का फैसला किया है। वे परिवार सहित 22 मई को जयपुर में दीक्षा लेंगे। दीक्षा ग्रहण करने के पहले राकेश सुराना (40) , उनकी पत्नी लीना सुराना (36) और बेटे अमय सुराना(11) को शहर के लोगों ने शोभायात्रा निकालकर विदाई दी।